ओपीसी बनाम पीपीसी: सही विकल्प चुने

This post is also available in: enEnglish (English)

सीमेंट एक बाध्यकारी पदार्थ है जो कोंक्रीट और मोर्टार बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ओपीसी और पीपीसी का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है। आजकल पीपीसी का उपयोग ओपीसी के बदले में किया जाता है। इसीलिए, सबसे पेचीदा बात यह है कि सही चुनाव कैसे करें। दौर का अंधाधुंध पालन करने की कोई आवश्यकता नहीं है। उनके लक्षण, अनुशंसित उपयोग, लागत लाभ इत्यादि के जानने से आपको एक बेहतर अंदाजा मिलेगा कि कौनसी सीमेंट का उपयोग होना चाहिए और कहां होना चाहिए।

यह भी पढ़े: सीमेंट का ग्रेड क्या होता है?
ओपीसी बनाम पीपीसी
Courtesy - 123rf

01. जनरल

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

ओपीसी: ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट

  • यह दुनिया में इस्तेमाल किया जाने वाला सबसे आम सीमेंट है जो प्रचुर मात्रा में है और जिसे बनाने का खर्चा भी कम होता है।
  • ओपीसी केवल चूना पत्थर और दूसरी सहायक सामग्री को पीसकर बनाया जाता है।
  • हालांकि, उत्पादक आजकल ओपीसी  का उतपादन भी नहीं करते है और पीपीसी में बदलाव कर चुके हैं।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

पीपीसी: पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट

  • पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट(पीपीसी) ओपीसी का एक प्रकार है जिसमें एक पोज्जोलेनिक पदार्थ का मिश्रण शामिल है जो कोंक्रीट की मजबूती बढ़ाने के लिए और ओपीसी की मात्रा घटाने के लिए जाना जाता है।
  • आजकल इसका ओपीसी के बदले में इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि यह ग्रीन इमारत मानदंडों को पूरा करने के लिए जाना जाता है और इसीलिए टिकाऊ विकास में मदद करता है।

02. कार्यस्थल पर पहचान

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • इस सीमेंट पर निशान IS निशान का रंग काला होता है।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • इस सीमेंट पराई IS निशान का रंग लाल होता है।

03. कच्चा माल

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • केलकेरियस (चुना युक्त पदार्थ)
  • आर्जिलेइसियस (सिलिका और एलुमिना युक्त पदार्थ)
  • मुलायम पत्थर (जिप्सम)

क्लिंकर बनाने के लिए इन सभी पदार्थों को निश्चित अनुपात में मिश्रित किया जाता है और भट्टियों में गर्म किया जाता है, जिसे बाद में इस सीमेंट को प्राप्त करने के लिए आवश्यक पतलेपन के अनुसार पीस लिया जाता है।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • ओपीसी सीमेंट
  • मुलायम पत्थर (जिप्सम)
  • पोज्जॉलेनिक पदार्थ

इस सीमेंट को प्राप्त करने के लिए इन सभी पदार्थों को एक साथ मिश्रित करके पीस लिया जाता है या अलग से पीसकर और फिर मिश्रित किया जाता है।

04. लाभ

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  •  इसका जमने का समय पीपीसी से कम है, इसीलिए उन परियोजनाओं में इसकी सिफारिश की जाती है जहां सामान जल्दी हटाने की आवश्यकता होती है।
  • पीपीसी के मुकाबले इसका संचालन करना बहुत आसान है।
  • इसकी प्रारंभिक मजबूती पीपीसी से ज्यादा होती है।
  • इसका संसाधन (curing) समय पीपीसी से कम होता है। इसलिए संसाधन (curing) खर्च कम होने से इसकी सिफारिश वहां की जाती है जहां संसाधन खर्च पर रोक हो।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • यह बड़े पैमाने पर कोंक्रीटिंग, प्लास्टर और चिनाई (masonry) के लिए सबसे अच्छा विकल्प है।
  • इसका उपयोग कोई भी और हर जगह पर किया जा सकता है।
  • इसका टिकाऊपन ज्यादा होने से संरचनाएं लंबे समय तक टिकेगी।
  • यह विभिन्न रसायनों के हमलों के खिलाफ प्रतिरोधी है।
  • इसका पतलापन ज्यादा होता है इसीलिए इसमें कम पारगम्यता होती है, जिसके परिणामस्वरुप यह ज्यादा टिकाऊ होता है।
  • यह एक हरा पदार्थ है, इसीलिए पर्यावरण-अनुकूल और ग्रीन रेटिंग प्राप्त करने में सहायक है।
  • यह ज्यादा संसक्त कोंक्रीट बनाता है, जिसे आसानी से पंप किया जा सकता है।
  • यह ओपीसी के मुकाबले कम महंगा है।

05. अलाभ

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • इसका उपयोग बड़े पैमाने के कोंक्रीटिंग (mass concreting) के लिए नहीं किया जा सकता है क्योंकि पीपीसी की तुलना में इसमें हाइड्रेशन की गर्मी की मात्रा उच्च होती है।
  • ग्रेड ५३ जैसे उच्च ग्रेड को प्लास्टरिंग के लिए इस्तेमाल करने की अनुशंसा नहीं की जाती है क्योंकि इसकी अधिक मजबूती के कारण संकोचन दरारें विकसित होती है।
  • बहुत ही कम उत्पादक 33 ग्रेड कि सीमेंट का उत्पादन करते हैं.
  • पीपीसी के मुकाबले यह कम टिकाऊ है.
  • पीपीसी के मुकाबले आक्रमक रसायनों के खिलाफ इसका प्रतिरोध कम है।
  • यह Co2 फेंकता है जो पर्यावरण के लिए हानिकारक है।
  • पीपीसी की तुलना में यह कम संसक्त कोंक्रीट बनाता है, इसीलिए कोंक्रीट पंपिंग थोड़ा मुश्किल हो जाता है।
  • यह पीपीसी से महंगा है।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • इसका जड़ने का समय ओपीसी से ज्यादा है।
  • अधिक पतलेपन के कारण इसका संचलन करना मुश्किल है।
  • इसकी प्रारंभिक मजबूती ओपीसी से कम है। इसीलिए टेके (props) को जल्दी नहीं हटाया जा सकता है।
  • इसका संसाधन (curing) समय ओपीसी  से थोड़ा ज्यादा है।

06. उपयोग और अनुशंसा

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • ओपीसी के उपयोग की अनुशंसा वहां की जाती है जहां तेजी से कंस्ट्रक्शन करने की आवश्यकता होती है। लेकिन,
  • इसका उपयोग बड़े पैमाने के कोंक्रीटिंग (mass concreting) के लिए नहीं किया जा सकता है क्योंकि पीपीसी की तुलना में इसमें हाइड्रेशन की गर्मी की मात्रा उची होती है।
  • ग्रेड ५३ जैसे उच्च ग्रेड को प्लास्टरिंग के लिए इस्तेमाल करने की अनुशंसा नहीं की जाती है क्योंकि इसकी अधिक मजबूती के कारण संकोचन दरारें विकसित होती है।
  • चिनाई (masonry) में भी इसका उपयोग करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि प्रारंभिक अवधि में चूने की मजबूती महत्वपूर्ण नहीं होती है।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • इसका उपयोग सभी प्रकार के निर्माण कार्यों में किया जा सकता है, जैसे कि:
  • आवसिक और व्यवसायिक कार्य में RCC(रीइनफोर्सड़ सीमेंट कोंक्रीट) का काम।
  • प्लास्टर और चिनाई (masonry), जहां अधिक मजबूती की आवश्यकता नहीं होती है।
  • समुद्री कार्य
  • बड़े पैमाने के कोंक्रीट(mass concreting) कामों में, जैसे डेम्स और स्थूलकाय नींव।
  • व्यावसायिक और औद्योगिक परिसर।
  • रोड रनवे ब्रिज और फ्लाईओवर इत्यादि।

दीवार चूना जैसी गैर संरचनात्मक कोंक्रीटिंग के लिए भी अनुशंसित है।

*कोंक्रीट मिश्रण में विभिन्न मिश्रण मिलाने से तेज सेटिंग समय प्राप्त करने में मदद मिल सकती है। उचित मिश्रण का उपयोग करके अधिक सेटिंग समय की बाधा को दूर किया जा सकता है।

07. प्रकार/श्रेणी

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

ओपीसी सीमेंट की विभिन्न श्रेणियां जो भारत में उपलब्ध है वह इस प्रकार है:

  • ओपीसी 33 श्रेणी
  • ओपीसी 43 श्रेणी
  • ओपीसी 53 श्रेणी

*ध्यान दें कि अंतिम मजबूती मिक्स डिजाइन पर निर्भर करती है, न कि केवल सीमेंट की मजबूती पर।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

ओपीसी की तरह इस सीमेंट की कोई भी विशिष्ट श्रेणियां उपलब्ध नहीं है।

इसे इस्तेमाल किए गए पोज्ज़ोलेनिक पदार्थ के आधार पर विभिन्न प्रकारों में वर्गीकृत किया गया है। इस्तेमाल किए गए विभिन्न पोज्ज़ोलेनिक पदार्थ यह है:

  • फ्लाई ऐश
  • राइस हस्क ऐश
  • ज्वालामुखीय टफ्स और प्युमिसाइट्स
  • मिट्टी और शेल

*फ्लाई ऐश सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला पोज्ज़ोलेनिक पदार्थ है.

*ध्यान दें कि अंतिम मजबूती मिक्स डिजाइन पर निर्भर करती है, न कि केवल सीमेंट की मजबूती पर।

08. गुण (वह गुण जो सीमेंट कोंक्रीट को प्रदान करता है।)

(a) मजबूती

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • इसकी आरंभिक मजबूती पीपीसी से अधिक हैं।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • पीपीसी की लंबे समय की मजबूती ओपीसी से अधिक है।

 (b) टिकाऊपन

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • ओपीसी सीमेंट से बनाए जाने वाले कोंक्रीट का टिकाऊपन पीपीसी सीमेंट से बनाए जाने वाले कोंक्रीट से कम होता है।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • इसमें पानी की कम पारगम्यता होने के कारण यह कोंक्रीट को उच्च टिकाऊपन प्रदान करता है।

(c) कार्यशीलता

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • पीपीसी सीमेंट से बनाए जाने वाले कोंक्रीट की तुलना में ओपीसी सीमेंट से बनाए जाने वाले कोंक्रीट की कार्यशीलता कम होती है।*कोंक्रीट मिश्रण में विभिन्न मिश्रण मिलाने से आवश्यक कार्यशीलता प्राप्त करने में मदद मिल सकती है।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • पीपीसी सीमेंट से बनाए जाने वाले कोंक्रीट की कार्यशीलता उच्च होती है।*सीमेंट में मौजूद पोज्जॉलेना सीमेंट में पतलेपन को बढ़ाता है और पानी की मात्रा को घटाता है। लिहाजा, यह मिश्रण का खर्च बचाता है।

(d) हाइड्रेशन की गर्मी

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • इस सीमेंट की हाइड्रेशन प्रक्रिया तेज है और इसीलिए इसकी हाइड्रेशन की गर्मी पीपीसी के मुकाबले ज्यादा है; लिहाजा, बड़े पैमाने के कोंक्रीटिंग (mass concreting) के लिए यह अनुचित है।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • पीपीसी की हाइड्रेशन की गर्मी ओपीसी से कम होती है, लिहाजा यह बड़े पैमाने के कोंक्रीटिंग (mass concreting) के लिए उचित है।

(e) जड़ने का समय

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • इसका प्रारंभिक सेटिंग समय है: 30 मिनट।
  • इसका अंतिम सेटिंग समय है: 280 मिनट।
  • इसका सेटिंग समय पीपीसी से कम माना जाता है। इसीलिए, जहां तेज कार्य दर या ढांचे को तेजी से हटाने की आवश्यकता है, वहां इसे प्राथमिकता दी जाती है।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • इसका प्रारंभिक सेटिंग समय है: 30 मिनट।
  • इसका अंतिम सेटिंग समय है: 600 मिनट।
  • पीपीसी सीमेंट, कोंक्रीट के सेटिंग समय को बढ़ाता है और इसीलिए कोंक्रीट की बेहतर फिनिशिंग में मदद करता है।

*कोंक्रीट मिश्रण में विभिन्न मिश्रण मिलाने से तेज सेटिंग समय प्राप्त करने में मदद मिल सकती है।

(f) पतलापन (Fineness)

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

 

  • इसका पतलापन (fineness) कम से कम 225 m²/kg होता है।
  • इसमें कम पतलापन (fineness) होता है, इसीलिए इसमें अधिक पारगम्यता होती है, और नतीजतन यह कम टिकाऊ होता है।।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • इसका पतलापन (fineness) कम से कम 300 m²/kg होता है।
  • इस में पतलापन (fineness) ज्यादा होता है इसलिए इसमें कम पारगम्यता होती है और नतीजतन इसमें टिकाऊपन ज्यादा और कार्यशीलता बेहतर होती है।

(g) रसायनों के हमले के खिलाफ प्रतिरोध (Resistance to Attack Against Chemicals)

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • पीपीसी के मुकाबले सल्फेट्स, अलकलीज, क्लोराइडस और रसायनों के हमलों के खिलाफ इसका प्रतिरोध कम है।

*हालांकि, विशेष सीमेंट उपलब्ध है जो विभिन्न रसायनों की प्रतिरोधी है।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • ओपीसी के मुकाबले सल्फेट्स, अलकलीज, क्लोराइडस और रसायनों के हमलों के खिलाफ इसका प्रतिरोध ज़्यादा है।

*हालांकि, विशेष सीमेंट उपलब्ध है जो विभिन्न रसायनों की प्रतिरोधी है।

09. संसाधन का समय

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • कम से कम 7 दिनों कि संसाधन अवधि की जरूरत होती है।
  • गर्म और सूखे मौसम की परिस्थिति के संपर्क में आने पर न्यूनतम संसाधन अवधि 10 दिनों से कम नहीं होगी।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • कम से कम 10 दिनों कि संसाधन अवधि की जरूरत होती है।
  • गर्म और सूखे मौसम की परिस्थिति के संपर्क में आने पर न्यूनतम संसाधन अवधि 14 दिनों से कम नहीं होगी।

10. पर्यावरणीय प्रभाव

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • इसकी उत्पादन प्रक्रिया से भारी मात्रा में CO² निकलता है।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • यह बहुत पर्यावरण अनुकूल है जो थर्मल स्टेशन की उपजात का उपयोग करता है। जहां अन्यथा फ्लाई ऐश की निपटान समस्या है।

11.  खर्च

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • एक बेग की क़ीमत लगभग ₹300 है।

*आपके शहर के आधार पर क़ीमत भिन्न हो सकती है।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • इसकी क़ीमत ओपीसी बेग से थोड़ी कम है।

*आपके शहर के आधार पर क़ीमत भिन्न हो सकती है।

12.  उत्पादक

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • अल्ट्राटेक सीमेंट
  • श्री सीमेंट
  • एसीसी
  • रामको सीमेंट्स
  • प्रिज्म सीमेंट
  • दालमिया सीमेंट
  • जेके लक्ष्मी सीमेंट
  • ओरिएंट सीमेंट
  • बिरला कॉर्प

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • अंबुजा सीमेंट
  • अल्ट्राटेक सीमेंट
  • जेपी सीमेंट
  • एसीसी
  • प्रिज्म सीमेंट
  • दालमिया सीमेंट
  • जेके लक्ष्मी सीमेंट
  • ओरिएंट सीमेंट
  • बिरला कॉर्प

13. उत्पादन प्रक्रिया

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • लाइमस्टोन और दूसरे पदार्थों को केवल पीसकर पाउडर बनाकर ओपीसी  का उत्पादन किया जाता है।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • इसका उत्पादन आर्डिनरी पोर्टलैंड सीमेंट और पोज्जोलना पदार्थ जैसे फ्लाई ऐश, स्लेग सिलिका फ्यूम्स वगैरह के मिश्रण को सीमेंट के वजन के मुताबिक 15% से 35% की मात्रा में मिलाने से होता है।

14. पहचान

ओपीसी

(ओर्डिनरी पोर्टलेंड सीमेंट)

  • इस सीमेंट की थैली पर ISI का चिन्ह काले रंग का होता है।

पीपीसी

(पोर्टलेंड पोज्जोलेना सीमेंट)

  • इस सीमेंट की थैली पर ISI का चिन्ह लाल रंग का होता है।

 विशेष टिप्पणीयां

अंत में, कोई भी संरचना कितनी टिक पायेगी यह मायने रखता है। अंतिम मजबूती एक जैसी होने से, यदि आप टेके (props) को कुछ ओर दिनों तक रखने के लिए सक्षम है, तो पीपीसी की अत्यधिक अनुशंसा की जाती है। आजकल सभी सरकारी इमारतों में भी पीपीसी सीमेंट का उपयोग किया जाता है, क्योंकि यह उन्हें ग्रीन बिल्डिंग रेटिंगस हासिल करने में मदद करता है।

उपर्युक्त जानकारी को पढ़ने के बाद उपयोगकर्ता को न्यायिक और उचित पसंद करनी चाहिए।

यह भी पढ़े:

एएसी ब्‍लॉक्‍स बनाम रेड ब्रिक्‍स: सही फैसला कैसे करें
प्रिकास्‍ट और कास्‍ट-इन-सिटू कंक्रीट के बीच का अंतर
आरसीसी फ्रेम और लोड बेअरिंग ढांचा (स्ट्रक्चर) के बीच फर्क
Super Byte Hosting

Author:

Material Exhibition

Explore the world of materials.
Exhibit your Brands/Products.

More From Topics

Use below filters for find specific topics