प्लायवुड के फायदे और नुकसान

Civil Engineer / Content Writer

This post is also available in: enEnglish (English)

प्लायवुड एक बिल्डिंग वूड प्रोडक्ट है जिसका उपयोग फर्नीचर से लेकर घर बनाने तक हर काम में होता है। यह बहुआयामी और काफी कारगर निर्माण सामग्री है क्योंकि लकडी की पतली परतों को बिछाने से बेजोड मजबूती और लौचिकता मिलती है। प्लायवुड एक लकडी का पैनल होता है जो वूड विनियर्स की अनेक पतली परतों को एक – दूसरे पर रखकर बनाया जाता है।

0309080005-01-Plywood-Grades-24720625_xl--600x400
Courtesy - 123rf

प्लायवुड का आमतौर पर सबसे ज्यादा इस्तेमाल घरों और ऑफिसेस के फर्नीचर बनाने में होता है। इसके अलावा, इसका उपयोग इमारतों का निर्माण करने और बोट्स तथा शिप्स में लकडी के कामों में किया जाता है। इसका उपयोग हल्के पार्टीशन और बाहरी दीवारें बनाने के लिए और फर्श बनाने के काम के लिए भी किया जाता है।

यहां पर हमने प्लायवुड के कुछ फायदों और नुकसानों की चर्चा की है।

Also Read: Properties of Plywood as a Building Material

प्लायवुड के फायदे

प्लायवुड के कई फायदे हैं जो नीचे दिए गए हैं:

  • मीडियम डेंसिटी फाइबरबोर्ड (एमडीएफ) की तुलना में इसमें बहुत ही अच्छी मजबूती और टिकने की क्षमता होती है।
  • यह विभिन्न मोटाइयों में ६ मिमी से २५ मिमी तक उपलब्ध है।
  • अलग अलग किस्म की लकडियों से बने प्लायवुड उपलब्ध हैं।
  • एमडीएफ की तुलना में इसके पानी से क्षतिग्रस्त होने की संभावना कम होती है।
  • इसे आसानी पॉलिश या पेंट किया जा सकता है।
  • इसमें स्क्रू अच्छी तरह से बैठाए जा सकते हैं।
  • ये सिकुडता, मुडता, ऐंठता नहीं है और इसमें दरार नहीं पडती।
  • ठोस लकडी की तुलना में ये बडे माप में उपलब्ध होता है और इसीलिए जोड लगाने से बचाया जा सकता है तथा इसीलिए ये अच्छा लगता है। इसी कारणवश ये प्राकृतिक लकडी के विनीयर्स से हटकर मेंटेनेंस (रखरखाव) की गति को बढाता है और काम आसान बनाता है, जब कि लकडी के मामले में आपको जोडों (जोईंट्स) का भी ध्यान रखना पडता है।
  • ठोस लकडी की तुलना में ये किफायती होता है।
Also Read: Make a Right Choice Between Plywood and MDF

प्लायवुड के नुकसान

प्लायवुड के कई नुकसान हैं जो नीचे दिए गए हैं:

  • ये मीडियम डेंसिटी फाइबरबोर्ड (एमडीएफ) से अधिक महंगा होता है।
  • विनियर्स की परतें किनारों से दिखाई देती हैं, इसीलिए किनारों को फिनिश देना पडता है।
  • ये अक्सर किनारों से उखडता है।
  • प्लायवुड को काटना काफी कठिन होता है।
  • इसे विषैला वीओसी (वोलेटाइल ऑर्गेनिक कंपाउंड) उत्सर्जित करने के लिए जाना जाता है।
  • पानी के कारण मॉइश्चर रेजिस्टेंट (एमआर) ग्रेड प्लायवुड को नुकसान हो सकता है।
  • आम लोगों के लिए यह तय करना कठिन होता है कि कौन सी लकडी का उपयोग प्लायवुड बनाने के लिए किया गया है।
  • ब्लॉकबोर्ड या पार्टिकल बोर्ड की तुलना में ये ज्यादा महंगा होता है।
  • कमर्शियल ग्रेड के अधिकांश प्लावुड को लैमिनेट्स यानी सनमाइका से ढंकने की जरूरत होती है, ताकि उसकी सुंदरता बढे और उसकी उम्र बढे। इसमें दीमक लगने की संभावना होती है और ये एक बार दीमकसे प्रभावित होने पर इसे नुकसान हो सकता है।

प्लायवुड एक उपयोगी निर्माण सामग्री है। इसीलिए प्लायवुड का उपयोग करने से पहले आपको उसके फायदों और नुकसानों पर सतर्कता से विचार करना चाहिए।

Also Read:
Advantages & Disadvantages of Wood Veneer
Make a Right Choice Between Veneer and Laminate

Material Exhibition

Explore the world of materials.
Exhibit your Brands/Products.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

More From Topics

Use below filters for find specific topics