फ्लोर ट्रैप या नहनी ट्रैप क्या है?

This post is also available in: enEnglish (English)

ट्रैप्स पाइपलाइन व्यवस्था का एक महत्वपूर्ण घटक है। यह इमारत में मल मार्ग से गंदी हवा कीड़े और पंप जीवी के प्रवेश और बीमारी के फैलाव को रोकते हैं। ट्रैप्स का निर्माण इस तरह किया जाता है कि, वह पानी की कुछ मात्रा को धारण करके रखें, जो वॉटर सील की तरह काम करता है।

ट्रैप्स स्व-सफाई के प्रकार के होने चाहिए। उनमें स्व-सफाई प्रभाव, मुलायम पूर्णता और पूर्ण समरूप छेद के लिए उपलब्ध पानी के प्रवाह से पर्याप्त स्व-सफाई वेग उत्पन्न करने की क्षमता होनी चाहिए।

फ्लोर ट्रैप या नहनी ट्रैप
यह भी पढ़े: अलग अलग प्रकार के प्लंबिंग ट्रैप्स के बारे में जानिए।

यदि उपयुक्त उपकरणों द्वारा रोक न पाए तो जांच ना की जाए मलमार्ग, गंदी नाली, और वेस्ट पाइप में से उत्पन्न होने वाली गंदी गैस घर से कनेक्ट करने वाली पाइप के माध्यम से घर में प्रवेश करके बाधाएं पैदा कर सकती है। गंदी गैस को घर में प्रवेश करने से रोकने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले उपांगो को ट्रैप्स कहते हैं।

फ्लोर ट्रैप या नहनी ट्रैप

फ्लोर ट्रैप को नहनी (हिंदी में नहाने का मतलब धोने/नहाने की जगह) ट्रैप के नाम से जाना जाता है।  इमारत में गंदी गैस के प्रवेश को वाटर सील द्वारा रोकने के लिए फ्लोर ट्रैप या नहनी ट्रैप प्रदान किया जाता है। पानी की गहराई कम से कम 50 मिलीमीटर प्रदान की जानी चाहिए। चाहे गंदा पानी बह रहा हो या नहीं, फ्लोर ट्रैप गंदी गैस को इमारत में प्रवेश करने से रोकता है।

बाथरूम, धोने का जगह, वोश बेसिन, किचन सिंक, वगैरे से गंदे पानी को जमा करने के लिए फर्श में फ्लोर ट्रैप या नहनी ट्रैप प्रदान किया जाता है। फ्लोर ट्रैप्स पीवीसी, यूपीवीसी और सीआई में उपलब्ध है; इनमें वायु पाइप नहीं होती है, लेकिन ट्रैप्स के ऊपर हटायी जा सके ऐसी योग्य जाली होती है।

Also Read: Residential Plumbing System: All You Need to Know!

फ्लोर ट्रैप्स या नहनी (नहनी मतलब धोने की जगह) ट्रैप्स विभिन्न आकार, नाप और निकास स्थिति के आधार पर मिलते है। बहुत से फ्लोर ट्रैप में कोई वाटर सील नहीं होता है और उनमें असमान और खुरदरा छेद होता है। खराब डिजाइन, कास्टिंग, और खराब गुणवत्ता के कारण फ्लोर ट्रैप्स मुख्य टपकन का स्त्रोत है। एक स्थिर जोड़ प्रदान करने के लिए वॉश बेसिन और दूसरे फिटिंग के संयोजन से टपकन को रोकने के लिए मल्टी-इनलेट फिटिंग/ट्रैप्स वाले गहरे सील वाले पी ट्रैप्स का इस्तेमाल किया जाता है।

उन क्षेत्रों में, जो सामान्य उपयोग में ना हो, वहां स्थापित किए गए ट्रैप्स में से वाष्पीकरण के कारण वाटर सील खोने की संभावना रहती है। वॉटर सील को बनाए रखने के लिए समय समय पर पानी जोड़ने की व्यवस्था होनी चाहिए और यह वेस्ट उपकरण (उदाहरण के लिए वाश बेसिन, वगैरह) को ट्रैप्स के साथ जोड़ने से हो सकता है। ट्रैप से जुड़ा हुआ प्रतिवाह रुकावट उपकरण वाला परिष्कृत वाटर सप्लाई वाल्व स्थापित करने से भी पानी की भराई हो सकती है। इसका ध्यान रखा जाना चाहिए की बहुत ठंडे वातावरण में ट्रैप्स उससे प्रभावित हो इस तरह से स्थापित नहीं करना चाहिए।

फ्लोर ट्रैप या नहनी ट्रैप की लंबाई 310 मिलीमीटर, प्रवेश मार्ग का व्यास कम से कम 80 मिलीमीटर, निकास मार्ग का व्यास कम से कम 30 मिलीमीटर और निकास मार्ग के बाहर का व्यास 73 मिलीमीटर होना चाहिए। साथ ही फ्लोर ट्रैप के ऊपर प्रदान की गई जाली का नाप 8 मिलीमीटर व्यास के छेदों के साथ 95 मिलीमीटर होना चाहिए।

Also Read: The Complete Guide to Various Types of Valves in Plumbing Systems

बाथरूम के माध्यम से कॉकरोच को घर में प्रवेश करने से रोकना

ऊपर जाली के साथ नहनी ट्रैप प्रदान करने से यह खटमल और कीड़े मकोड़े(कॉकरोच) का मलमार्ग के माध्यम से बाथरूम और टॉयलेट में प्रवेश रोकता है।

जाली फ्लोर ट्रैप या नहनी ट्रैप के ऊपर

यह भी पढ़े:

सेप्टिक टैंक और सोक पिट क्या है?
गली ट्रेप (कुंडि का ट्रैप) क्या है?
Super Byte Hosting

Material Exhibition

Explore the world of materials.
Exhibit your Brands/Products.

More From Topics

Use below filters for find specific topics